Breaking News
Home / World / National / Delhi / एम्स के राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में सर्जरी इसी माह से

एम्स के राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में सर्जरी इसी माह से

aiims
aiims – फोटो : जी पाल

देश के 23 लाख से भी ज्यादा कैंसर मरीजों को सस्ती दवाओं की सौगात के बाद अब एम्स के राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में इसी माह से ऑपरेशन की सुविधा शुरू हो जाएगी।

महज 10 रुपये के कार्ड पर संस्थान में मरीजों को न सिर्फ जांच बल्कि रेडियोथेरेपी और कीमो के अलावा ऑपरेशन की सुविधा भी मिलेगी। यहां रोबोट के जरिये मरीजों के रक्त नमूनों की जांच की जा रही है। रोबोट एक दिन में 60 हजार मरीजों के नमूने की जांच कर सकता है।

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस देश इस संस्थान में 25 ऑपरेशन थियेटर तैयार किए गए हैं। दिल्ली एम्स से कैंसर विशेषज्ञों की टीम निरीक्षण भी कर चुकी है। माना जा रहा है कि इससे दिल्ली एम्स के डॉ. भीमराव आंबेडकर कैंसर सेंटर पर मरीजों का दबाव कम हो जाएगा।

एम्स के सिर एवं गला कैंसर सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. एसवीएस देव बताते हैं कि झज्जर स्थित बाढ़सा गांव में बना राष्ट्रीय कैंसर संस्थान अब तक सबसे बेहतरीन सरकारी अस्पताल है। निजी अस्पतालों की तरह यहां मरीजों की देखरेख के लिए सहायक तैनात किए हैं। मुख्य द्वार पर सहायता डेस्क स्थापित की है।

किसी भी मरीज व तीमारदारों को भटकना न पड़े इसके लिए बाकायदा सहायक उनकी मदद कर रहे हैं। ऑपरेशन की सुविधा भी जल्द शुरू होने जा रही है। डॉ. देव का कहना है कि दो सप्ताह के दौरान सुविधाएं शुरू हो जाएंगी। जबकि लैब, रेडियोथैरेपी और कीमो शुरू हो चुका है।

सालाना 5 लाख मरीजों का होगा उपचार 
संस्थान के प्रमुख डॉ. जीके रथ का कहना है कि यह देश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल है। जहां सालाना 5 लाख मरीजों का उपचार किया जा सकता है। 25 में से 16 मॉडयूलर ऑपरेशन थियेटर हैं। इसके अलावा 5 माइनर ऑपरेशन थियेटर भी हैं। 15 करोड़ की लागत से रोबोटिक कोर लैब स्थापित की गई है। करीब 700 करोड़ रुपये की लागत से आधुनिक उपकरण लगाए हैं। ये देश का पहला सरकारी अस्पताल है जहां कैंसर मरीजों के लिए 5 लिनियर एसीलेटर हैं।  2020 तक 300 करोड़ रुपये की लागत से प्रोटोन थेरेपी शुरू होगी।

दूर दराज के डॉक्टर भी कर सकेंगे परामर्श 
झज्जर के बाढ़सा स्थित राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में टेली कांफ्रेंसिंग की सुविधा भी उपलब्ध है। डिजिटल कनेक्टिविटी के जरिये देश के किसी भी शहर या छोटे कस्बे में मौजूद डॉक्टर यहां तैनात विशेषज्ञों की मदद ले सकेंगे। देश के सभी राज्य कैंसर संस्थानों और विभिन्न मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के डॉक्टर भी परामर्श कर सकते हैं।

About Site Default

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

Jordan Weal Womens Jersey